जल्द ही हाइवेज को रैंकिंग देने के लिए हाइवे यूजर सेटिस्फेक्शन इंडेक्स डिवेलप करेगी रोड मिनिस्ट्री !

VRP19जल्द ही आप नेशनल हाइवेज को भी अपने अनुभव के अनुसार रेटिंग दे सकेंगे। नितिन गडकरी की अगुवाई वाली रोड ट्रांसपॉर्ट एंड हाइवेज मिनिस्ट्री देश में नैशनल हाइवेज को रैंकिंग देने के लिए एक हाइवे यूजर सेटिस्फेक्शन इंडेक्स डिवेलप कर रही है। नीति आयोग ने हाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक इंफ्रास्ट्रक्चर रिव्यू मीटिंग में सुझाव दिया था कि हाइवे का इस्तेमाल करने वालों की संतुष्टि बढ़ाने के लिए मिनिस्ट्री को काम करना चाहिए।

  • हाइवे का इस्तेमाल करने वालों की संतुष्टि बढ़ाने के लिए मिनिस्ट्री को काम करना चाहिए: पीएम मोदी
  • ई-टोलिंग की उपलब्धता, हाइवेज पर हरियाली, सड़क किनारे टॉयलट, पेयजल जैसे पैरामीटर होंगे

आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, ‘यह फैसला किया गया है कि नवंबर तक मिनिस्ट्री एक हाइवे यूजर सेटिस्फेक्शन इंडेक्स तैयार करेगी। इसके साथ ही फीडबैक लेने के लिए अगस्त तक एक मोबाइल एप्लिकेशन डिवेलप किया जाएगा। रैंकिंग होने पर राज्यों के बीच अपने नेशनल हाइवेज में सुधार करने के लिए कॉम्पिटिशन होगा।ह्ण मिनिस्ट्री के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हाइवे का इस्तेमाल करने से संबंधित लोगों की संतुष्टि में सुधार आगामी ट्रांसपॉर्टेशन पॉलिसी का हिस्सा होगा। इसमे पैसेंजर ट्रैवल एक्स्पीरियंस और ट्रक चालकों के फ्रेट ट्रांसपॉर्टेशन एक्स्पीरियंस पर फोकस किया जाएगा।
मिनिस्ट्री ने हाइवे इंडिया नाम से एक अलग सेल बनाया है, जो हाइवे एक्स्पीरियंस में सुधार करने पर ध्यान देगा। पहली रैंकिंग इस वर्ष के अंत तक पेश की जाएगी। हाइवे रैंकिंग इंडेक्स में रोड की क्वालिटी, ई-टोलिंग की उपलब्धता, हाइवेज पर हरियाली, सड़कों पर रुकावटें, सड़क के किनारे टॉयलट, पीने के पानी की सुविधाएं और टोल प्लाजा पर लगने वाले समय जैसे पैरामीटर होंगे। इसमें सुरक्षा के पहलू का भी ध्यान रखा जाएगा, जिससे सड़क दुर्घटनाओं और मृत्यु की संख्या को कम किया जा सके।
हाल के समय में इस बात को लेकर काफी बहस हुई है कि अगर सड़क की क्वॉलिटी खराब है तो उस पर यात्रा करने वाले लोगों को टोल क्यों चुकाना चाहिए। पिछले वर्ष सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि खराब सड़क पर कोई टोल नहीं वसूला जाना चाहिए और दिल्ली-जयपुर हाइवे पर टोल में बढ़ोतरी को वापस लेना पड़ा था। अधिकारी ने बताया कि इससे पहले मिनिस्ट्री ने कभी हाइवे एक्स्पीरियंस पर फोकस नहीं किया था, लेकिन अब हम यूजर्स से फीडबैक लेने के लिए एक मैकेनिज्म तैयार कर रहे हैं।
मिनिस्ट्री का हाइवे इंडिया कॉन्सेप्ट ट्विटर और फेसबुक के जरिए सोशल मीडिया पर लोकप्रिय बनाया जा रहा है। हाइवे इंडिया के लिए एक लोगो भी डिजाइन किया गया है। इस कॉन्सेप्ट को लेकर टोल प्लाजा पर होर्डिंग लगाने की भी योजना है। देश में 300 से अधिक नेशनल हाइवेज की कुल लंबाई एक लाख किलोमीटर है। सरकार ने 2020 तक हाइवे की लंबाई दोगुनी करने का लक्ष्य रखा है। आयोग ने मिनिस्ट्री से सभी हाइवेज की रोड क्वॉलिटी, रोड एसेट मैनेजमेंट सिस्टम पर नजर रखने के लिए एक थर्ड पार्टी एजेंसी बनाने को भी कहा है।

Source : http://goo.gl/9hcl9t

Leave a Reply